वर्णिका – II(पूरक पाठ). (5. धरती कब तक घूमेगी / Dharti kab tak ghoomegi)

5. धरती कब तक घूमेगी

Dharti kab tak ghoomegi

यहाँ वर्ग-10 के पुस्तक “वर्णिका(भाग-2) पूरक पाठ” के अध्याय-5. “धरती कब तक घूमेगी(Dharti kab tak ghoomegi)” से कुछ महत्वपूर्ण अति लघु उत्तरीय प्रश्न-उत्तर लिया गया है जो कि कक्षा-10 तथा अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उपयोगी होंगे।

1. ‘सीता’ किस कहानी का प्रमुख पात्र है?
उत्तर- धरती कब तक घूमेगी।

2. ‘धरती कब तक घूमेगी’ शीर्षक कहानी कहां से संकलित है?
उत्तर- समकालीन भारतीय साहित्य।

3. सांवर दइया किस भाषा के प्रमुख कहानीकार है?
उत्तर- राजस्थानी।

4. ‘धरती कब तक घूमेगी’ यह कैसी कहानी है?
उत्तर- सामाजिक।

5. आज सीता के चारों ओर क्या खुली थी?
उत्तर- हवा।

6. सीता के कितने लड़के थे?
उत्तर- 3

7. सीता के बड़े लड़के का नाम क्या था?
उत्तर- कैलाश।

8. ‘धरती कब तक घूमेगी’ शीर्षक कहानी का प्रमुख पात्र कौन है?
उत्तर- सीता।

9. सवाल किस चीज का है?
उत्तर- रोटी का।

10. सीता के हाथ में अब क्या नहीं था?
उत्तर- मरना।

11. सीता का कौन लड़का हमेशा चुप रहता था?
उत्तर- बिज्जू।

12. किसकी पत्नी ने दाल का हलवा बनाया था?
उत्तर- कैलाश की।

13. क्या सब कुछ बता देती है?
उत्तर- आंखें।

14. सीता क्या खूरचने लगी?
उत्तर- जमीन।

15. सीता को किसने रसमलाई भेजी थी?
उत्तर- नारायण की पत्नी ने।

16. भुनती हुई दाल देखकर सीता को लगा कि वह भी…….. जा रही है?
उत्तर- भुनी।

17. नारायण की पत्नी का क्या नाम था?
उत्तर- भंवरी।

18. बिज्जू की पत्नी का क्या नाम था?
उत्तर- पुष्पा।

19. किसे महसूस होने लगा कि आसमान अनंत नहीं है?
उत्तर- सीता को।
20. सांवर दइया किस पाठ के कथाकार है?
उत्तर- धरती कब तक घूमेगी।

21. सीता रुआँसी क्यों हो गई?
उत्तर- अपना काला चादर देखकर।

गोधूलि – II (गद्द खण्ड)

1. श्रम विभाजन और जाति प्रथा2. विष के दांत
3. भारत से हम क्या सीखें4. नाखून क्यों बढ़ते हैं
5. नागरी लिपि6. बहादुर
7. परंपरा का मूल्यांकन8. जित-जित मै निरखत हूं
9. आविन्यों10. मछली
11. नौबतखाने में इबादत12. शिक्षा और संस्कृति

गोधूलि – II (काव्य खण्ड)

1. राम बिनु बिरथे2. प्रेम अयनी श्री राधिका
3. अति सूधो सनेह को मारग है4. स्वदेशी
5. भारतमाता6. जनतंत्र का जन्म
7. हिरोशिमा8. एक वृक्ष की हत्या
9. हमारी नींद10. अक्षर ज्ञान
11. लौट कर आऊंगा फिर12. मेरे बिना तुम प्रभु

वर्णिका – II (पूरक पाठ)

1. दही वाली मंगम्मा2. ढहते विश्वास
3. मां4. नगर
5. धरती कब तक घूमेगी
Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top